मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जालंधर में इन्डस्ट्रीअलिस्ट के साथ किया लंच, व्यापारियों के मसलों पर हुई चर्चा

मुख्यमंत्री ने व्यापारियों के मुद्दों और समस्याओं पर की चर्चा, कई समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जालंधर में इन्डस्ट्रीअलिस्ट के साथ किया लंच, व्यापारियों के मसलों पर हुई चर्चा

 

 

 

 

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने वीरवार को जालंधर में व्यापारियों कारोबारियों के साथ मीटिंग की और उन्हें संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने मीटिंग में आए व्यापारियों साथ बैठकर लंच किया और उनके साथ अपने विचार साझा किए।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने व्यापारियों के साथ उनके मुद्दों और समस्याओं पर भी चर्चा की। कई व्यापारियों के समस्याओं का तो उन्होंने मौके पर ही समाधान कर दिया और कुछ को जल्द पूरा करने का भरोसा दिया।

जालंधर के व्यापारियों से मुख्यमंत्री मान ने  उपचुनाव में आम आदमी पार्टी का सहयोग करने की अपील की और कहा कि आप मोहिंदर भगत को विधायक बनाएं। मैं इन्हें मंत्री बनाऊंगा। फिर मैं आपके सभी समस्याओं का समाधान मोहिंदर भगत के साथ मिलकर करूंगा।

भाषण के दौरान मुख्यमंत्री ने अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल पर निशाना साधा और कहा कि चाणक्य ने लिखा है कि जिस देश का राजा व्यापारी होता है, वहां के जनता भिखारी होती है। लेकिन दुर्भाग्यवश पिछली सरकारों में बैठे कुछ लोग खुद बस, होटल और अन्य तरह के कारोबार करने लगे, जिससे राज्य की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा और सरकारी खजाने को चूना लगा।

 

उन्होंने कहा कि जब से राज्य में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है पंजाब के कई प्रतिभाशाली लोग विदेश से वापस लौटे और यहां आकर नई तरह का व्यवसाय शुरू किया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में व्यापारियों से हिस्सा मांगा जाता था इसलिए वह पंजाब छोड़कर या तो विदेश या दूसरे राज्यों में चले जाते थे। 

मुख्यमंत्री ने मानसा के तीन नौजवान जो बठिंडा के पास 'पनजॉय' नाम से वाटर पार्क चला रहे हैं, उनका उदाहरण दिया। उन्होंने स्वयं सहायता समूह चलाने वाला एक संस्था 'पहल' का भी उदाहरण दिया।

मान ने कहा किसी भी राज्य की तरक्की में वहां के उद्योग और व्यापार का सबसे बड़ा योगदान होता है। उद्योग बढ़ने से ही बेरोजगारी की समस्या खत्म हो सकती है। राज्य का राजस्व भी उद्योग व्यापार के बदौलत ही बढ़ सकता है। 

मुख्यमंत्री ने जालंधर के लिए एक और घोषणा की। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में हम जालंधर को माझा और दोआबा क्षेत्र की  राजधानी बनाएंगे। हर हफ्ते मैं खुद अधिकारियों के साथ दो दिन यहां आया करूंगा और लोगों की समस्यायों का मौका पर ही समाधान करुंगा। हमने जो यहां किराए पर घर लिया है, यहां के लोगों के लिए सीएमओ होगा।