पूर्व मुख्यमंत्री चरनजीत चन्नी पर फिर भड़के चौधरी, वायरल वीडियो पर किया कटाक्ष

बीबी जागीर कौर वाली वीडियो पर मचा बवाल

पूर्व मुख्यमंत्री चरनजीत चन्नी पर फिर भड़के चौधरी, वायरल वीडियो पर किया कटाक्ष

बेशक की मरहूम सांसद चौधरी संतोख सिंह की पत्नी भाज़पा में चली गई है और उनके बेटे को कांग्रेस द्वारा संस्पैंड कर दिया गया है लेकिन बावजूद इसके इन लोगों में बड़ी हुई शब्दी तलखी शांत होने का नाम नहीं ले रही है।

 

शनिवार को पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और जालंधर से कांग्रेस के उम्मीदवार चरनजीत चन्नी की बीबी जागीर कौर के साथ मज़ाक करते की एक वीडियो सोशल मीडिया पर बड़ी तेज़ी से वायरल हो रही है जिसको लेकर कांग्रेस से संस्पैंड फिल्लौर के विधायक बिक्रमजीत चौधरी ने एक बार फिर से चन्नी को आढ़े हाथों लिया है।

 

फिल्लौर विधायक विक्रमजीत सिंह चौधरी ने जालंधर से कांग्रेस पार्टी के लोकसभा उम्मीदवार चरणजीत सिंह चन्नी के शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की पूर्व अध्यक्ष बीबी जगीर कौर के साथ व्यवहार पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था श्री अकाल तख्त साहिब चन्नी को सिखों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए तलब करें और उचित सजा दें।

उन्होंने कहा कि वह इस मामले को लेकर श्री अकाल तख्त साहिब जत्थेदार को भी पत्र लिखेंगे।

जालंधर के जिला प्रशासनिक परिसर में चन्नी की बीबी जगीर कौर से मुलाकात का वीडियो वायरल हो गया है। बीबी जगीर कौर शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार महेंद्र सिंह केपी के साथ नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंचीं थीं। इसको लेकर लोगों में काफी नाराज़गी पाई जा रही है।

चन्नी के व्यवहार की निंदा करते हुए विधायक चौधरी ने कहा कि बीबी जगीर कौर एक अमृतधारी सिख महिला हैं, जिन्होंने शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष के रूप में तीन बार पंथ की सेवा की है और श्री अकाल तख्त साहिब को चन्नी को उनके सार्वजनिक दुर्व्यवहार के लिए 'तन्खाहिया' घोषित करना चाहिए।

इसके अलावा उन्होंने धार्मिक भावनाओं और एक महिला के मान-सम्मान को ठेस पहुंचाने के आरोप में पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ आईपीसी की धारा 295ए और धारा 354ए के तहत कानूनी कार्रवाई की मांग की। उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग और राष्ट्रीय महिला आयोग से भी इस संबंध में स्वयं संज्ञान लेकर कार्रवाई करने की मांग की है।

विधायक चौधरी ने कहा कि हालांकि कांग्रेस पार्टी चन्नी को पंजाब के दलित चेहरे के रूप में पेश कर रही है, लेकिन बार-बार दुर्व्यवहार के कारण वह वास्तव में दलित समुदाय पर कलंक बन गए हैं।

फिल्लौर विधायक ने कांग्रेस नेतृत्व को फिर से चेतावनी देते हुए कहा कि पार्टी को अपनी आंखें खोलनी चाहिए और चन्नी द्वारा वर्षों से लगातार किए जा रहे दुर्व्यवहार को स्वीकार करना चाहिए। चन्नी के इस व्यव्हार से पूरे सिख जगत में भारी रोष है। उन्होंने आगे कहा कि यह पूरी कांग्रेस पार्टी के लिए शर्म की बात है कि चन्नी ने बिना किसी की परवाह किए वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में इस तरह का दुर्व्यवहार किया।